पूंजीवादी पक्षाघात से पीड़ित

देश में आधारभूत संरचना की स्थिति भी इतनी मजबूत नहीं है उस पर से इस तरह संसाधनों का दोहन, किस लिए सिर्फ स्टैण्डर्ड पे खरा उतरने के लिए. Writes Ankit Jha